बगरु में जल संकट: गैर राजनीतिक सर्व समाज ने खड़ा किया जल आंदोलन

0
165

बगरू/मुकेश कुमार। पीने के पानी के लिए अफसरों की नीति के कारण बगरू के करीब 144 गांवों के 7 लाख लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है। इससे नाराज लोगों ने रविवार को दिनभर बाजार बंद रखा और सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया। पैदल मार्च करते हुए सैकड़ो लोग मुख्यमंत्री आवास घेरने आ रहे थे पुलिस ने रोक लिया। कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया। बाद में छोड़ दिया गया। जल संकट से आक्रोशित लोगों ने धरना प्रदर्शन किया तो एक प्रतिनिधिमंडल की जलदाय विभाग के एसीएस सचिव सुबोध अग्रवाल से मुलाकात करवाई। एसीएस व इंजीनियरों ने दो टूक शब्दों में कहा कि बीसलपुर बांध में पेयजल का आवंटन बढ़ने से पहले पाइपलाइननहीं डाल सकते। अब लोग राज्यसभा चुनावों के बाद आंदोलन करने की रणनीति बना रहे हैं। लोगों का आरोप है कि दूदू इलाके को पर्याप्त पानी मिल रहा है। प्रोजेक्ट विंग के सीई दिनेश गोयल, एसीई बीएस मीना और एसई आरसी मीना व भरत मीना के कारण सात लाख लोग प्यासे हैं। बगरू में तीन दिन में पानी आ रहा है। सेज को बीसलपुर से पानी मिल रहा है वहां से 8 इंच की पाइपलाइन डालकर जोड़ा जा सकता है। प्रोजेक्ट विंग के अधिकारी ने खुद टेंडर करने के लिए बगरू स्कीम को अपने यहां ट्रांसफर करवा लिया। विधायक गंगादेवी भी 79.65 करोड़ की नई स्कीम का काम रेगुलर विंग से करवाना चाहती हैं, लेकिन अतिरिक्त प्रमुख सचिव ने यह काम प्रोजेक्ट विंग को दे दिया। इसके बाद अधर झूल में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here